बाल विकास और शिक्षाशास्त्र Child Development and Pedagogy CTET

बाल विकास Teaching Pedagogy Part 005

बाल विकास Teaching Pedagogy Part 005 को आज हम Website (Be Notesi)  पर पढ़ेगें । जिससे आप अपनी तैयारी में गति देने के लिए हमने अपनी मेहनत से आपको बाल विकास Teaching Pedagogy का भाग बाल विकास Teaching Pedagogy Part 005 में सरकारी नौकरी पाने के लिए बाल विकास Teaching Pedagogy के One Line Question के प्रश्नोत्तर (प्रश्न उत्तर) बनाये है । जिससे बाल विकास Teaching Pedagogy Part 005 को पढ़कर अपने लक्ष्य को शीघ्र ही प्राप्त कर सकते है ।

बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र के महत्त्वपूर्ण नोट्स

बाल विकास Teaching Pedagogy Part 005

  • व्यक्तिगत विभिन्नता के आधार पर शिक्षा देने हेतु निम्न में से कौनसा विकल्प उपयुक्त है ? Ans. – बुद्धि के स्तर पर आधार पर बालकों का कक्षा विभाजन ।
  • बालकों में व्यक्तिगत विभेद के मुख्य कारण है ? Ans. – मानसिक गुण ।
  • शाब्दिक व्यवहार-कौशल का महत्त्व है ? Ans. – सम्प्रत्यय निर्माण में ।
  • विद्यालयों को किसके लिए वैयक्तिक भिन्नताओं को पूरा करना चाहिए ? Ans. – यह समझने के लिए कि क्यों शिक्षार्थी सीखने के योग्य या अयोग्य है ।
  • शिक्षार्थियों में वैयक्तिक भिन्नताओं को सम्बोधित करने के लिए विद्यालय किस प्रकार का सहयोग उपलब्ध करवा सकता है ? Ans. – बाल-केन्द्रित पाठ्यचर्चा का पालन करना और शिक्षार्थियों को सीखने के अनेक अवसर उपलब्ध करना ।
  • बच्चों में सीखने और सुनने के लिए अधिगमयोग्य वातावरण के लिए । निम्नलिखित में से कौन उपयुक्त है ? Ans. – शिक्षार्थियों को यह छूट देना कि क्या के सीखना है और कैसे सीखना है ।
  • शिक्षार्थी वैयक्तिक भिन्नता प्रदर्शित करते हैं, अतः शिक्षक को ? Ans. – सीखने के विविध अनुभवों को उपलब्ध कराना चाहिए ।
  • ‘प्रतिभाशाली बालक वह है, जो अपने उत्पादन की मात्रा, दर तथा गुणवत्ता में विशिष्ट होता है ।’ यह कथन दिया गया है ? Ans. – आर डब्ल्यू टेलर द्वारा ।
  • अध्यापन के समय अध्यापक को निम्नलिखित में से किसका सर्वाधिक ध्यान रखना चाहिए ? Ans. – वैयक्तिक भिन्नता ।
  • निष्पत्ति परीक्षणों का सबसे अधिक उपयोग है ? Ans. – छात्र वर्गीकरण में ।
  • कक्षा में भावी अनुशासन के लिए अध्यापक को चाहिए ? Ans. – छात्रों को कुछ समस्याएँ हल करने को दें ।

बाल विकास शिक्षा शास्त्र सीटेट

  • व्यक्तिगत भिन्नता का ज्ञान अध्यापक को मदद करता है ? Ans. – शिक्षण अधिगम क्रियाओं की योजना बनाने में ।
  • कक्षा में विद्यार्थियों के वैयक्तिक विभेद ? Ans. – लाभकारी हैं, क्योंकि ये विद्यार्थियों की संज्ञानात्मक संरचनाओं को खोजने में अध्यापकों को प्रवृत्त करते हैं ।
  • व्यक्तिगत विभिन्नताओं का क्षेत्र है ? Ans. – लिंग भेद, शारीरिक संरचना, मानसिक योग्यताएँ ।
  • अच्छे मानसिक स्वास्थ्य का संकेतक है ? Ans. – संवेगों पर नियंत्रण रखना ।
  • मानसिक स्वास्थ्य के सम्प्रत्यय की पूर्ण जानकारी एक शिक्षक को योग्य बनाती है ? Ans. – विद्यार्थियों के अवांछित व्यवहार में गहन सूझ विकसित करने में ।
  • व्यक्तिगत भिन्नता के कारक होते हैं ? Ans. – वंशानुगत एवं वातावरणीय ।
  • कुसमायोजित व्यक्ति कहलाते हैं, जो ? Ans. – अधिकतर अनुचित ढंग से द्वंद्वात्मक स्थिति का सामना करते हैं । समाज विरोधी गतिविधि में सहभागिता रखते हैं । द्वन्द्व को दूर करने में असमर्थ होते हैं ।
  • छात्रों को मानसिक रूप से स्वस्थ्य एवं स्वच्छ बने रहने के लिए विद्यालय प्रशासन को कौनसा तरीका अपनाना चाहिए ? Ans. – नियमित स्वास्थ्य परीक्षण ।
  • एक बच्चा सदैव दूसरों के प्रति सहानुभूति दिखाता है । यह आदत कहलाती है ? Ans. – भावना संबंधी आदत ।
  • अच्छी स्मृति की विशेषताएँ है ? Ans. – शीघ्र पुनःस्मरण, शीघ्र पहचान, अच्छी धारणा ।
  • अध्ययन की दृष्टि से व्यक्तिगत भिन्नताओं का महत्व है ? Ans. – विद्यार्थियों का समरूप समूहों में वर्गीकरण ।
  • विभेदकारी परीक्षण अंतर करता है ? Ans. – कमजोर विद्यार्थियों में, सामान्य विद्यार्थियों में, प्रतिभाशाली विद्यार्थियों में ।
  • प्रतिभाशाली शिक्षार्थियों के लिए ? Ans. – शिक्षक को अनुकूलन करना चाहिए, जैसे शिक्षार्थी में बदलाव आता है ।
  • वंचित समूहों के विद्यार्थियों को सामान्य विद्यार्थियों के साथ-साथ पढ़ाना चाहिए, इसका अभिप्राय है ? Ans. – समावेशी शिक्षा ।
  • एक बच्चे को अकेलापन और एकांत पसंद है । यह स्वभाव जिससे संबंधित है ? Ans. – सामाजिक भिन्नता ।

Child Development & Pedagogy HP Exam

  • एक बच्चे में बेईमानी और चोरी की आदत विकसित हो जाती है, बच्चा अन्य बच्चों से जिस दृष्टिकोण से भिन्न है, वह है ? Ans. – नैतिकता ।
  • अन्तर्मुखी व्यक्तित्व वाले व्यक्ति रुचि रखते हैं ? Ans. – स्वयं अपने में ।
  • व्यक्तित्व एवं व्यक्तिगत विभिन्नताओं को प्रभावित करने वाले तत्व हैं ? Ans. – वंशानुक्रम तथा वातावरण ।
  • फ्रायड ने व्यक्तित्व का वर्गीकरण किस आधार पर किया है ? Ans. – काम प्रवृत्ति के आधार पर ।
  • बहिर्मुखी बालक की विशेषता है ? Ans. – कार्य करने की दृढ़ इच्छा ।
  • जो व्यक्ति भोजन प्रिय, आराम पसंद एवं सामाजिक होते हैं ? Ans. – गोलाकृति ।
  • वर्तमान में सर्वोत्तम माना जाने वाला व्यक्तित्व के प्रकारों का वर्गीकरण किसकी देन है ? Ans. – जुंग की ।
  • व्यक्तित्व मापन के लिए व्यक्ति की सम्पूर्ण सूचनाएँ प्राप्त करने की विधि है ? Ans. – व्यक्ति इतिहास विधि ।
  • निम्न में से शेल्डन ने व्यक्तित्व का प्रकार नहीं बताया है ? Ans. – Pimpy (पिम्प) ।
  • व्यक्तित्व शब्द का अंग्रेजी रूपान्तरण पर्सनेलिटी शब्द मूलत: किस भाषा के शब्द से बना है ? Ans. – लेटिन ।
  • परसोना शब्द का लैटिन भाषा में अर्थ होता है ? Ans. – बाहरी रूपरंग या नकली चेहरा ।
  • व्यक्तित्व के निर्माण का महत्वपूर्ण साधन है ? Ans. – अनुकरण ।
  • ‘संगठित व्यक्तित्व’ कहते हैं, जिसमें निम्नांकित पक्षों का विकास सामाजिक पक्ष, मानसिक पक्ष, संवेगात्मक पक्ष ।
  • संगठित व्यक्तित्व की विशेषता नहीं है ? Ans. – असामाजिकता ।
  • संगठित व्यक्तित्व की विशेषता है ? Ans. – सामाजिकता ।
  • सामाजिक आधार पर व्यक्तित्व का वर्गीकरण किस मनोवैज्ञानिक ने तैयार किया ? Ans. – स्पेन्गर ।

Child Development And Teaching Pedagogy RTET Exam

  • यह वह शक्ति है, जिसके द्वारा व्यक्ति अपने बारे में जानता है कि वह क्या है तथा दूसरे व्यक्ति उसके बारे में क्या सोचते है इस शक्ति का नाम क्या है ? Ans. – आत्म चेतना ।
  • अंतर्मुखी बालक होता है ? Ans. – एकान्त में विश्वास रखने वाला ।
  • व्यक्तित्व को मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण से किस मनोवैज्ञानिक ने वर्गीकृत किया ? Ans. – युंग ।
  • निम्न में से जो घटक व्यक्तित्व के विकास को प्रभावित करने वाला है ? Ans. – बुद्धि, स्वास्थ्य, लैंगिक भिन्नता ।
  • जब किसी व्यक्ति का अवलोकन निश्चित परिस्थितियों में किया जाता है तो वह कहलाता है ? Ans. – नियंत्रित अवलोकन ।
  • जुंग ने व्यक्तित्व का सिद्धांत दिया है ? Ans. – विश्लेषात्मक सिद्धांत ।
  • वे बालक/ बालिकाएँ जो परिस्थिति के आधार पर व्यवहार प्रकट करते हैं ? Ans. – उभयमुखी ।
  • जुंग ने व्यक्तित्व का विभाजन जिस पुस्तक में किया वह है ? Ans. – Type of men ।
  • अत्यधिक वाचाल, प्रसन्नचित रहने वाले तथा सामाजिक प्रवृत्ति के धनी व्यक्ति का व्यक्तित्व होता है ? Ans. – बहिर्मुखी ।
  • भारतीय दृष्टिकोण से जो बालक काम प्रवृत्ति के तथा दूसरों का अहित करने वाले होते है, उन्हें किस वर्ग में रखा गया है ? Ans. – तामसिक ।
  • अचेतन मन का अध्ययन किया जाता है ? Ans. – मनोविश्लेषण विधियों द्वारा ।
  • निम्न में से व्यक्तित्व मापन की विधि नहीं है ? Ans. – एक तत्व परीक्षण ।
  • समाजमिति द्वारा अध्ययन करने से बालक के किस गुण का पता चलता है ? Ans. – सामाजिकता का ।
  • समाजमिति से सामान्यत: जिन तथ्यों का पता चलता है, वह है ? Ans. – तटस्थता, नायकगुण, तिरस्कृत ।
  • निम्न में से व्यक्तित्व परीक्षण मापन की प्रक्षेपी विधि नहीं है ? Ans. – मनोविश्लेषण विधि ।
  • निम्न में से जो व्यक्तित्व परीक्षण की विधि नहीं है, वह है ? Ans. – भ्रमण ।
  • न्यूमैन तथा स्टर्न ने व्यक्तित्व को किन भागों में वर्गीकृत किया है ? Ans. – विश्लेषणात्मक व संश्लेषणात्मक ।
  • एक संगठित व्यक्तित्व में जो विशेषता नहीं पाई जाती है, वह है ? Ans. – झगड़ना ।
  • पर्सनेलिटी शब्द की व्युत्पत्ति लैटिन भाषा के किस शब्द से हुई? Ans. – परसोना ।
  • “व्यक्तित्व, व्यक्ति में उन मनोशारीरिक अवस्थाओं का गतिशील संगठन है, जो उसके पर्यावरण के साथ उनका अद्वितीय सामंजस्य निर्धारित करता है ।” कथन है ? Ans. – आलपोर्ट का ।
  • नार्सिसिज्म का सम्बन्ध है ? Ans. – आत्म प्रेम से ।

Child Development And Teaching Pedagogy MPTET Exam

  • निम्न में से कौनसी व्यक्तित्व मापन प्रक्षेपी विधियाँ हैं ? Ans. – रोर्शा स्याही धब्बा परीक्षण, प्रासंगिक अंतर्बोध परीक्षण, बाल संप्रत्यन परीक्षण ।
  • चोरी करना पाप है, अनैनितक है, यह कौन कहता है ? Ans. – सुपर ईगो (परम अहम) ।
  • शरीर रचना पर आधारित व्यक्तित्व के प्रकार किसने बताए ? Ans. – क्रेचमर व शैल्डन ने ।
  • युँग या जुँग ने व्यक्तित्व के कौन से प्रकार बताए ? Ans. – अंतर्मुखी, बहिर्मुखी व उभयमुखी ।
  • फ्रॉयड ने सबसे अधिक बल किस प्रवृत्ति पर दिया है ? Ans. – काम प्रवृत्ति ।
  • व्यक्तित्व को समझने के लिए व्यक्तित्व के शील गुणों का अध्ययन किस मनोवैज्ञानिक ने किया ? Ans. – आलपॉर्ट ।
  • हिप्पोक्रेट्स ने किस आधार पर व्यक्तित्व का वर्गीकरण किया ? Ans. – कफ, पित्त पर आधारित ।
  • डिफेन्स मैकेनिज्म (रक्षात्मक तन्त्र) का सम्बन्ध किससे होता है ? Ans. – अहम् ।
  • वंशानुक्रम से प्राप्त निम्नलिखित कारक व्यक्तित्व पर प्रभाव डालते हैं ? Ans. – गल ग्रंथि, पियूष ग्रंथि, यौन ग्रंथि ।
  • व्यक्तित्व मापन की निरप्रक्षेपण विधियाँ बताइए ? Ans. – आत्मकथा लेखन, प्रश्नावली, जीवनवृत्त विधि ।
  • उभयमुखी व्यक्तित्व वाले व्यक्ति होते हैं ? Ans. – अंतर्मुखी, व बहिर्मुखी ।
  • व्यक्तित्व मापन की किस विधि में किसी समूह के व्यक्तियों में से पहली पसंद का व्यक्ति चुनने के लिए कहा जाता है ? Ans. – समाजमिती ।
  • व्यक्ति के अंर्तर्द्वद्ध के समाधान में प्रमुख स्थान है ? Ans. – उदात्तीकरण ।
  • हमारे मस्तिष्क का चेतन भाग होता है ? Ans. – 1/10 ।
  • औपचारिक व अनौपचारिक किसकी विधियाँ हैं ? Ans. – साक्षात्कार ।
  • जिस साक्षात्कार के माध्यम से छात्र से घर तथा आसपास के वातावरण से सम्बन्धित सूचनाएँ प्राप्त की जाती है, वह है ? Ans. – निदानात्मक साक्षात्कार ।
  • व्यक्तित्व का निर्माण प्रारंभ हो जाता है ? Ans. – 0-5 वर्ष में ।
  • निम्नलिखित में से कौनसा स्प्रेन्जर के द्वारा किया गया व्यक्तित्व का वर्गीकरण नहीं है ? Ans. – सुडौलकाय ।
  • प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण किसके द्वारा दिया गया ? Ans. – मॉर्गन एवं मुर्रे ।
  • व्यक्तित्व का अन्तर्मुखता तथा बहिर्मुखता के रूप में वर्गीकरण दिया गया ? Ans. – युंग ।
  • निम्न में से कौनसा व्यक्तित्व का जैविक निर्धारक है ? Ans. – आनुवांशिक प्रभाव ।
  • व्यक्तित्व का पहला प्रकारात्मक वर्गीकरण प्रस्तुत किया ? Ans. – हिप्पोक्रेट्स ने ।
  • कैटल द्वारा विश्लेषित किये गये व्यक्तित्व शीलगुणों की संख्या कितनी हैं ? Ans. – 16 ।
  • मुर्रे ने एक परीक्षण की रचना करके इतिहास रच दिया, वह क्या है ? Ans. – विषय आत्मबोधन परीक्षण ।

Child Development And Teaching Pedagogy UPTET Exam

  • निम्न में से प्रश्नावली व्यक्तित्व परीक्षण की कौनसी विधि है ? Ans. – व्यक्तिनिष्ठ ।
  • निम्न में से किस मनोवैज्ञानिक का कथन है कि सम्पूर्ण व्यक्तियों को उनके व्यक्तित्व के आधार पर दो में से श्रेणी अन्तमुर्खी अथवा बहिर्मुखी में रख सकते हैं ? Ans. – युंग ।
  • व्यक्ति मापन की वस्तुनिष्ठ विधियों में से कौनसी विधि नहीं मानी जाती है ? Ans. – अभिज्ञपक प्रश्नावली ।
  • परसोना अन्तर्मुखी व्यक्तित्व की विशेषता है ? Ans. – इसमें सामाजिक के गुण कम पाए जाते हैं ।
  • व्यक्तित्व शब्द की उत्पत्ति लेटिन भाषा के किस शब्द से हुई है ? Ans. – परसोना ।
  • किशोरावस्था की अवधि है ? Ans. – 12 से 19 वर्ष ।
  • ‘पर्सनेलिटी’ शब्द किस भाषा के मूल से लिया गया है ? Ans. – लैटिन ।
  • ‘रोर्शा स्याही धब्बा परीक्षण’ का कौनसा प्रकार है ? Ans. – प्रक्षेपी ।
  • अन्तर्मुखी व्यक्तित्व की विशेषताएँ हैं ? Ans. – संदेही, शंकालू तथा एकान्तप्रिय रहने वाले ।
  • ‘किशोरावस्था बड़े संघर्ष, तनाव व तूफान की अवस्था है ।’ यह कथन किसने कहा है ? Ans. – स्टेनली हॉल ।
  • लेटिन भाषा में ‘परसोना’ का अर्थ है ? Ans. – मुखौटा ।

Child Development And Teaching Pedagogy HTET Exam

  • टी.ए.टी. (व्यक्तित्व) परीक्षण की कौनसी विधि का प्रकार है ? Ans. – प्रक्षेपी ।
  • ‘ब्रेल लिपि’ से किसको पढ़ाना चाहिए ? Ans. – अंधे ।
  • सी.ए. टी. व्यक्तित्व परीक्षण की कौनसी विधि है ? Ans. – प्रक्षेपी ।
  • अधिगम को प्रभावित करने वाला व्यक्तिगत कारक है ? Ans. – परिपक्वता एवं आयु ।
  • व्यक्तित्व एवं बुद्धि में वंशानुक्रम की ? Ans. – महत्वपूर्ण भूमिका है ।
  • बालक प्रसंग बोध परीक्षण 3 वर्ष से 10 वर्ष की आयु के बालकों के लिए बनाया गया है । इस परीक्षण में कार्ड में प्रतिस्थापित किये गये हैं ? Ans. – लोगों के स्थान पर जानवरों का ।
  • किस मनोवैज्ञानिक ने व्यक्तित्व की संरचना के अन्तर्गत गत्यात्मकता एवं स्थलाकृति पक्ष का अध्ययन किया ? Ans. – लेविन व फ्रायड ।
  • व्यक्तित्व स्थायी समायोजन है ? Ans. – पर्यावरण के साथ, जीवन के साथ, प्रकृति के साथ ।
  • वांछित व्यक्तित्व होता है ? Ans. – संवेगीय स्थिर ।
  • बालक के व्यक्तित्व को प्रभावित करने वाला कारक है ? Ans. – वंशानुक्रम तथा वातावरण ।
  • निम्न में से कौनसा कारण बालक के स्वस्थ भावात्मक विकास में सहायक नहीं है ? Ans. – परिवार एवं विद्यालय में संवेगों का दमन ।

NCERT Class-10 Social Science Quiz Lesson 01

Indian Economy GK in Hindi Part 009

Rasili Rasoi

1 thought on “बाल विकास Teaching Pedagogy Part 005”

  1. Pingback: बाल विकास Teaching Pedagogy Part 010 - Be Notesi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *